पाठ-6,आश्रम के अतिथि व संस्मरण, पृष्ठ-29-31